Breaking News Latest News Uttarakhand

‘मेयर—विधायक महोदय आपके बस का कुछ नहीं तो इस्तीफा दे दीजिए’ बोली रूडकी

चंद्रशेखर जोशी।
रूडकी इन दिनों बेहाल है। जगह—जगह खुदी सडकें हादसों का सबब बन रही हैं। वहीं रूडकी के माननीय विधायक प्रदीप बत्रा और आदरणीय मेयर साहब यशपाल राणा चौक—चौक और पुल—पुल खेल रहे हैं। जनसमस्याओं का हल करने के बजाए ये दोनों स्वयंभू जननेता मामूली बातों पर नूरा कुश्ती से पीछे नहीं हटते हैं और यहां तक कि मारपीट तक पर उतारू हो जाते हैं, जैसा कि कुछ दिन पहले लोगों ने दोनों की नूराकुश्ती देखी थी। मेयर और विधायक की इस नूराकुश्ती से बोर हो चुकी रूडकी की जनता ने दो टूक दोनों को नसीहत दी है कि कुछ कीजिए वरना इस्तीफा दीजिए।
रूडकी निवासी नितिन शर्मा ने बताय कि रूडकी में विकास के नाम पर लोगों को परेशान किया जा रहा है। एडीबी ने शहर की सडकें खोद दी है और इनको बनाने का काम नहीं किया जा रहा है। इस लापरवाही पर मेयर और विधायक को बोलना चाहिए था। लेकिन दोनों अपनी जिम्मेदारी से पीछे हट रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर ​दोनों नेताओं के बस का ये नहीं है तो फिर इनके पद पर बने रहने का भी कोई औचित्य नही है।
मालवीय चौक निवासी अफजाल खान ने कहा कि पिछले काफी दिनों से दोनों नेताओं और इनके समर्थकों का हंगामा देख रहे हैं। जब भी जन सरोकारों की बात होती है ये दोनों नेता और इनके समर्थक कहीं गुम हो जाते हैं। आए दिन सडकों पर हादसे हो रहे हैं और इनको कोई सुध नहीं है।
आम आदमी पार्टी के नेता शारिक अफरोज ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे पर पल्ला झाड रहे हैं। मेयर यशपाल राणा कहते हैं कि एडीबी उनकी बात नहीं सुन रही है और एनएच को ये काम करना चाहिए। विधायक प्रदीप बत्रा सरकार में होने के बाद भी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। हाल ही में भाजपा सरकार ने ऐलान किया था कि सभी सडकों को गडढा मुक्त किया जाएगा। लेकिन रविवार रात को भी हादसा हो गया। रूडकी के लोगों की जान जा रही है और ये दोनों नेता आंखे मूंदे बैठे हैं। अभी पुल या चौक का मसला होता तो दोनों आस्तीनें चढा लेते। इन दोनों के बस का नहीं है तो इन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.