युवा तुर्क

युवा तुर्क—’राजनीति में भाई—भतीजावाद के आगे युवा प्रतिभाएं दम तोड़ रही हैं’

युवा राजनीति में बेहद अनुशासन में रहने वाले पुरोहित समाज से आने वाले उज्जवल पंडित भाजपा युवा मोर्चा के महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। फिलहाल वो बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। उज्जवल पंडित इसके अलावा युवा तीर्थ पुरोहित महासभा की भी जिम्मेदारी संभालते हैं। वो राजनीति के मिजाज को किस तरह समझते हैं आइये जानते हैं उनके जवाबों के जरिए…
प्रश्न— राजनीति में युवाओं की भूमिका किस तरह देखते हैं?
युवाओं में ही पार्टी को ऊर्जा प्रदान कर शिखर तक लेजाने की शक्ति है। निर्णयों में युवाओ की भूमिका की प्रथमिकता ही दलों की शक्ति है। इसलिए युवाओं की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

प्रश्न— आपको राजनीति में आने के लिए किससे प्रेरणा मिली?
मुझे राजनीति में आने की प्रेरणा ​स्वामी विवेकानन्द और पं0 मदन मोहन मालवीय जी के विचारों से प्रेरणा मिली है।

प्रश्न— आपकी शुरूआत छात्र राजनीति से हुई या किसी और कारण से राजनीति में आए हैं या फिर सीधे ही सक्रिय राजनीति में आए हैं?
नहीं मैं छात्र राजनीति से नहीं आया हूं। मेरे लिए सक्रिय राजनीती में आने की एकाएक भूमिका बन गयी थी।

unnamed (3)

प्रश्न — आप को राजनीति में किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा?
ये महत्वपूर्ण सवाल है कि लेकिन, इसका जवाब जटिल है। मैं सिर्फ ये ही कह सकता हूं कि नए—नए लोग सिर्फ गणेश परिक्रमा कर प्रमुख दायित्वों पर विराजमान हो जाते हैं। हम आज भी संघर्षरत हैं।

प्रश्न —राजनीति में आने के लिए आपको परिवार में सबसे ज्यादा सहयोग किससे मिला?
राजनीति में आने के लिए मेरे पिता जी ने ही मेरा सर्वाधिक सहयोग किया

प्रश्न — अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए आपके पास क्या योजना है?
जमीनी स्तर पर संघर्ष कर रहे अनुभवी युवाओं के विचारों को कार्ययोजनाओं में शामिल किया जाना चाहिए। इससे पार्टी को मजबूती मिलेगी साथ ही युवाओं का भी उत्साहवर्धन होगा।

प्रश्न — भ्रष्टाचार को कैसे खत्म किया जा सकता है।
वैचारिक क्रांति पैदा कर और सेवा की जागृति कर ही भ्रष्टाचार को बहुत हद तक कम किया जा सकता है।

प्रश्न — अपने क्षेत्र की तीन प्रमुख समस्याएं बताइये।
हमारे क्षेत्र में स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल हैं और शिक्षा और साफ—सफाई का भी अभाव है। इस ओर काम करने की आवश्यकता है।

unnamed (4)

प्रश्न — राजनीति में आपका रोल मॉडल कौन है?
श्री पुष्कर सिंह धामी जी-मा0 विधायक,खटीमा विधान सभा,उत्तराखंड(पूर्व प्रदेशाध्यक्ष भाजयुमो-उत्तराखंड) मेरे राजनीति में रोल मॉडल हैं।

प्रश्न — क्या बिना पैसे के राजनीति में अच्छा मुकाम मिल सकता है?
धैर्य और संघर्ष जैसे तप हर छेत्र में सफलता दिलाते हैं। इसलिए धैर्य से काम लेना चाहिए।

प्रश्न — क्या भाई—भतीजावाद के सामने युवा प्रतिभा दम तोड रही हैं?
बिल्कुल ये सत्य है पूर्व में राजा अपने पुत्र को सत्ता तभी सौंपते थे जब वह सभी विधाओं में पारंगत हो जाता था परन्तु अब राजा बनाने का शौक है निर्णय लेने की क्षमता भले ही न हो।

प्रश्न —आपके आय के स्रोत क्या हैं, पैसे की किल्लत के कारण कभी परिवार में डांट पड़ती है?
पुरोहित कार्य ही आय का स्रोत है। पैसे के लिए बार—बार परिवार के लोग बोलते हैं कि जितना समय राजनीती में जाया करते हो उतना परिवार की आय बढ़ाने पर भी ध्यान दो।

प्रश्न —आपको मुख्यमंत्री बना दिया जाए, तो आप कौन सा एक काम करना चाहेंगे, जिसके लिए आपको प्रदेश की जनता याद रखे?
पहला सुख निरोगी काया। मैं स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करूंगा। क्योंकि इस क्षेत्र में हम बहुत पीछे हैं।

प्रश्न —क्या आप अपने अब तक के राजनीति करियर से संतुष्ट हैं?
हा जिस तरह एक एक सीढ़ी चढ़ रहा हूँ मंजिल भी अवश्य ही मिलेगी। ऐसा मुझे विश्ववास है।

प्रश्न —आपकी रूचि क्या—क्या हैं?
पढना लिखना और खेल व् व्यायाम।

प्रश्न —आपके पसंदीदा लेखक, एक्टर, एक्ट्रेस, खिलाड़ी और पत्रकार का नाम बताएं?
लेखक-खुशवंत सिंह
एक्टर-अमिताभ बच्चन
ऐक्ट्रेस-माधुरी दीक्षित
पत्रकार-प्रसून भजपेयी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.